Haryana

किसान आंदोलन के बीच हरियाणा निकाय चुनाव में भाजपा को शिकस्त, एक सीट पर कांग्रेस जीती

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़
Updated Wed, 30 Dec 2020 04:03 PM IST

पंचकूला में जीते भाजपा उम्मीदवार।
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

हरियाणा में बुधवार को निकाय चुनाव के नतीजे घोषित हो गए। कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन के बीच हुए चुनाव में भाजपा को शिकस्त मिली है। 27 दिसंबर को संपन्न निकाय चुनाव में सोनीपत, पंचकूला और अंबाला नगर निगम में मेयर पद के लिए पहली बार सीधे वोट डाले गए थे। इसमें भाजपा के खाते में पंचकूला और कांग्रेस के खाते में सोनीपत के मेयर की कुर्सी आ गई।

अंबाला मेयर पद का चुनाव पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा की पत्नी और हरियाणा जन चेतना पार्टी की उम्मीदवार शक्ति रानी ने जीता। रेवाड़ी नगर परिषद चुनाव में भाजपा ने जीत हासिल की। वहीं सांपला, धारुहेड़ा और उकलाना नगरपालिका में निर्दलीयों की जीत का डंका बजा। इस बार मेयर, नगर परिषद और नगरपालिका अध्यक्ष के लिए सीधे चुनाव हुआ है।  

सोनीपत के पहले मेयर बने कांग्रेस के निखिल मदान
कांग्रेस के निखिल मदान सोनीपत के पहले मेयर बन गए हैं। उन्होंने भाजपा के ललित बत्रा को पटखनी दी और 13 हजार 818 मतों से जीत दर्ज की। हालांकि सोनीपत में पार्षद चुनाव में भाजपा को संजीवनी मिली है। 20 में से भाजपा के 10 पार्षद बने। 9 पर कांग्रेस का कब्जा हुआ था। एक पार्षद निर्दलीय चुना गया। सोनीपत में बरोदा के बाद भाजपा को लगातार दूसरी हार मिली। वहीं जजपा ने 5 वार्डों से चुनाव लड़ा था, सभी पर उसे हार मिली।  

अंबाला में शक्ति रानी बनी पहली महिला मेयर
वहीं अंबाला में पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा की पत्नी शक्ति रानी ने मेयर पद पर जीत हासिल की है। शक्ति रानी अंबाला की पहली महिला मेयर बनी हैं। उन्होंने भाजपा की प्रत्याशी डॉ. वंदना शर्मा को हराया। हार के बाद डॉ. वंदना शर्मा ने कहा कि हार के कारणों की समीक्षा की जाएगी। अंबाला में पार्षद की 20 सीटों में से भाजपा को 8 सीटों पर जीत मिली है। कांग्रेस को तीन, हरियाणा जन चेतना पार्टी को सात और हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट को दो सीटें मिलीं।

पंचकूला में भाजपा को नौ वार्ड में मिली जीत
पंचकूला में भाजपा के कुलभूषण गोयल मेयर पद का चुनाव जीत गए हैं। उन्होंने कांग्रेस की उपिंदर आहलूवालिया को मात दी। पंचकूला में पार्षद पद के लिए हुए चुनाव में भाजपा को 9 सीटों पर जीत मिली है। कांग्रेस ने सात सीटों पर जीत हासिल की है। 2 सीटें जजपा के खाते में आई और दो सीटों पर आजाद प्रत्याशी जीते।
 

रेवाड़ी में जीती भाजपा प्रत्याशी, सांपला में हारी

रेवाड़ी नगर परिषद में प्रधान पद के चुनाव में भाजपा प्रत्याशी पूनम यादव ने निर्दलीय उपमा यादव को 2086 वोट से मात दी। रेवाड़ी में 31 वार्ड के चुनाव में भाजपा को सात में जीत मिली है। वहीं 24 सीट निर्दलीयों के खाते में आई। 

हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के हलके गढ़ी सांपला किलोई के एकमात्र कस्बे सांपला के नगर पालिका चुनाव में भाजपा प्रत्याशी को करारी हार मिली है। निर्दलीय प्रत्याशी पूजा को कुल 6428 वोट मिले वहीं भाजपा प्रत्याशी सोनू वाल्मीकि को 2468 वोट मिले। सांपला में 15 वार्ड पर चुनाव हुए। सभी में निर्दलीय जीते।

उकलाना नगरपालिका चुनाव में 13 वार्ड में सभी निर्दलीयों को जीत मिली। चेयरमैन पद पर निर्दलीय प्रत्याशी सुशील साहू 419 वोटों से जीते। उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी जजपा के महेंद्र को हराया।
  
धारूहेड़ा नगर पालिका में प्रधान पद पर निर्दलीय प्रत्याशी कंवर सिंह ने जीत दर्ज की है। कंवर सिंह को 3048 वोट मिले हैं। कंवर सिंह धारूहेड़ा के पूर्व सरपंच भी रहे हैं। दूसरे नंबर पर संदीप बोहरा रहे हैं। बोहरा को 2416 वोट मिले हैं। वहीं तीसरे नंबर पर बाबूलाल लांबा रहे हैं जिनको 2280 वोट मिले हैं। सिरसा के वार्ड 29 के उपचुनाव में हलोपा प्रत्याशी 422 से जीती। धारूहेड़ा में 17 पार्षद पद के लिए हुए चुनाव में सभी निर्दलीय जीते।

हरियाणा में बुधवार को निकाय चुनाव के नतीजे घोषित हो गए। कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन के बीच हुए चुनाव में भाजपा को शिकस्त मिली है। 27 दिसंबर को संपन्न निकाय चुनाव में सोनीपत, पंचकूला और अंबाला नगर निगम में मेयर पद के लिए पहली बार सीधे वोट डाले गए थे। इसमें भाजपा के खाते में पंचकूला और कांग्रेस के खाते में सोनीपत के मेयर की कुर्सी आ गई।

अंबाला मेयर पद का चुनाव पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा की पत्नी और हरियाणा जन चेतना पार्टी की उम्मीदवार शक्ति रानी ने जीता। रेवाड़ी नगर परिषद चुनाव में भाजपा ने जीत हासिल की। वहीं सांपला, धारुहेड़ा और उकलाना नगरपालिका में निर्दलीयों की जीत का डंका बजा। इस बार मेयर, नगर परिषद और नगरपालिका अध्यक्ष के लिए सीधे चुनाव हुआ है।  

सोनीपत के पहले मेयर बने कांग्रेस के निखिल मदान

कांग्रेस के निखिल मदान सोनीपत के पहले मेयर बन गए हैं। उन्होंने भाजपा के ललित बत्रा को पटखनी दी और 13 हजार 818 मतों से जीत दर्ज की। हालांकि सोनीपत में पार्षद चुनाव में भाजपा को संजीवनी मिली है। 20 में से भाजपा के 10 पार्षद बने। 9 पर कांग्रेस का कब्जा हुआ था। एक पार्षद निर्दलीय चुना गया। सोनीपत में बरोदा के बाद भाजपा को लगातार दूसरी हार मिली। वहीं जजपा ने 5 वार्डों से चुनाव लड़ा था, सभी पर उसे हार मिली।  

अंबाला में शक्ति रानी बनी पहली महिला मेयर
वहीं अंबाला में पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा की पत्नी शक्ति रानी ने मेयर पद पर जीत हासिल की है। शक्ति रानी अंबाला की पहली महिला मेयर बनी हैं। उन्होंने भाजपा की प्रत्याशी डॉ. वंदना शर्मा को हराया। हार के बाद डॉ. वंदना शर्मा ने कहा कि हार के कारणों की समीक्षा की जाएगी। अंबाला में पार्षद की 20 सीटों में से भाजपा को 8 सीटों पर जीत मिली है। कांग्रेस को तीन, हरियाणा जन चेतना पार्टी को सात और हरियाणा डेमोक्रेटिक फ्रंट को दो सीटें मिलीं।

पंचकूला में भाजपा को नौ वार्ड में मिली जीत
पंचकूला में भाजपा के कुलभूषण गोयल मेयर पद का चुनाव जीत गए हैं। उन्होंने कांग्रेस की उपिंदर आहलूवालिया को मात दी। पंचकूला में पार्षद पद के लिए हुए चुनाव में भाजपा को 9 सीटों पर जीत मिली है। कांग्रेस ने सात सीटों पर जीत हासिल की है। 2 सीटें जजपा के खाते में आई और दो सीटों पर आजाद प्रत्याशी जीते।
 


Source link

arvind007

News Media24 is a Professional News Platform. Here we will provide you National, International, Entertainment News, Gadgets updates, etc. 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: